कॉलेज प्रबंधक ने नकल के लिए छात्रों को उकसाया; कहा- 100 रु. का नोट कॉपी में रख देना, टीचर पास कर देगा

0
26


  • उत्तर प्रदेश के मऊ जिले का मामला, वीडियो वायरल होने के बाद कॉलेज प्रबंधक पर केस दर्ज; गिरफ्तार
  • बोर्ड परीक्षा से पहले फेयरवेल पार्टी हुई थी, इसी में कॉलेज प्रबंधक ने छात्रों को नकल की सलाह दी थी 

Dainik Bhaskar

Feb 20, 2020, 12:07 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में स्कूल प्रबंधक का बोर्ड परीक्षा में छात्रों को नकल के लिए उकसाने का वीडियो सामने आया है। वीडियो में कॉलेज प्रबंधक छात्रों से कह रहे हैं कि परीक्षा कक्ष में आपस में बात करना नकल नहीं है। कोई एक या दो थप्पड़ मार भी दे तो सहन कर लेना। हर सवाल का जवाब लिखना। बात न बने तो उत्तर पुस्तिका में 100 रु. का नोट रख देना। कॉपी जांचने वाला आंख बंदकर पास कर देगा। वीडिया वायरल होने के बाद जिला स्कूल निरीक्षक डॉ. राजेंद्र प्रसाद के निर्देश पर प्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है। पुलिस ने प्रबंधक को गिरफ्तार कर लिया गया है।

फेयरवेल पार्टी के दौरान प्रबंधक ने यह बात कही
मऊ जिले के मधुबन में हरिवंश मेमोरियल इंटर कॉलेज है। कॉलेज प्रबंधक प्रवीण मल्ल ने बोर्ड परीक्षा से पहले परीक्षार्थियों के लिए फेयरवेल पार्टी का आयोजन किया। पार्टी के दौरान ही प्रवीण ने कुछ अभिभावकों की उपस्थिति में बच्चों को राज्य सरकार द्वारा नकल को रोकने के लिए किए गए उपायों की जानकारी दी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रशासनिक सख्ती से डरने की जरुरत नहीं है। मैं चुनौती दे सकता हूं कि मेरे छात्रों में से कोई भी कभी भी असफल नहीं होता है।

‘डरने की कोई जरुरत नहीं’ 
उन्होंने कहा कि छात्रों को डरने की कोई जरूरत नहीं है। आप एक-दूसरे से बात करें, यह ठीक है। सरकारी स्कूल, परीक्षा केंद्रों के शिक्षक मेरे दोस्त हैं। यहां तक ​​कि अगर आप पकड़े जाते हैं और कोई आपको थप्पड़ मार भी देता है तो डरें नहीं। बस सहन कर लें। परीक्षा में कोई जवाब न छोड़ें। भले ही आप किसी प्रश्न का गलत उत्तर दें, जो चार अंकों के लिए हो, वे आपको तीन अंक देंगे। उन्होंने जय हिंद, जय भारत नारे के साथ संबोधन का समापन किया।

डीआईओएस बोले- ऐसी हरकत पर जेल भेजने से कम कार्रवाई नहीं
जिला स्कूल निरीक्षक (डीआईओएस) ने कहा- शासन हर कदम पर नकल रोककर प्रदेश में शैक्षिक वातावरण बनाने में लगा है। ऐसे में स्कूल संचालक हो या कोई आम आदमी, यदि नकल को बढ़ावा देने वाली हरकत रिकॉर्ड के तौर पर आएगी तो उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराकर जेल भेजने से कम की कार्रवाई नहीं होगी।

बीते मंगलवार से शुरू हुई बोर्ड परीक्षाएं
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की वार्षिक परीक्षाएं मंगलवार से शुरू हुई हैं। इस परीक्षा में इंटरमीडिएट के 25,84,511 छात्र तो हाईस्कूल के 30,20,607 छात्र भाग ले रहे हैं। कुल 56,07,118 परीक्षार्थियों की निगरानी के लिए 1 लाख 91 हजार सीसीटीवी लगाए गए हैं। नकल विहीन परीक्षा के लिए करीब 700 संवेदनशील और 275 अतिसंवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर प्रशासन की खास नजर है। लखनऊ स्थित कंट्रोल रूम में 60 मॉनिटर लगाए गए हैं।



Source link

Leave a Reply