चीनी कंपनियों का रहेगा दबदबा, हार्ले-एनफील्ड-ऑडी समेत कई बड़े ब्रांड रहेंगे नदारद, शो से जुड़ी 5 बड़ी बातें

0
27


  • एमजी मोटर्स ऑटो एक्सपो 2020 में 14 नए मॉडल्स पेश करेगी
  • चीन की सबसे बड़ी एसयूवी बनाने वाली कंपनी ग्रेट वॉल शो से ही भारत में डेब्यू करेगी
  • बजाज कंपनी इस दौरान नाइजीरिया में होने वाले मोटर शो में शामिल होगी

Dainik Bhaskar

Jan 24, 2020, 06:04 PM IST

ऑटो डेस्क. दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोटर शो ‘ऑटो एक्सपो 2020’ 6 फरवरी से नई दिल्ली में होने जा रहा है। इस साल शो का 15वां एडिशन है। शो की तैयारी जोर-शोर से चल रही है। इसकी भव्यता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस साल शो का आयोजन 26 हजार स्क्वायर मीटर एरिया में हो जा रहा है।

सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (सियाम) के डिप्टी डीजी सुगाटो सेन ने बताया कि शो का 20% स्पेस यानी लगभग 11 हजार स्क्वायर मीटर एरिया चीनी कंपनियों के लिए बुक हो चुका है। जिसे देखकर कहा जा सकता है कि शो में चीनी कंपनियों का काफी दबदबा रहेगा। फ्रांसिसी कंपनी सिट्रोइन शो के जरिए भारतीय बाजार में डेब्यू करेगी वहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक, देश की सबसे पुरानी टू-व्हीलर कंपनी रॉयल एनफील्ड के अलावा बजाज ऑटो और हार्ले डेविडसन इस साल भी शो से नदारद रहेगी।

शो के 15वें एडिशन से जुड़ी 5 बड़ी बातें

  1. 58 एकड़ में आयोजित होगा ऑटो एक्सपो

    ऑटो एक्सपो की ऑफिशियल वेबसाइट के मुताबिक इस बार मोटर शो 58 एकड़ में फैला होगा। इसमें 56 हजार स्क्वायक मीटर एरिया में एग्जीबिशन ऑयोजित की जाएगी। इसके अलावा इसमें बिजनेस लाउंज, वीआईपी लाउंज, बिजनेस सेंटर, रेस्ट्रोरेंट, फूड कॉर्ट समेत वेयर हाउस एरिया रहेगा।

  2. 20% स्पेस चीनी कंपनियों के लिए बुक

    • सियाम के डिप्टी डीजी सुगातो सेन के मुताबिक, इस साल शो का 20% एरिया चीनी कंपनी द्वारा बुक किया जा चुका है। यह कंपनियां अपनी नई तकनीक, इलेक्ट्रिक कार्स और कई नए मॉडल्स शो में पेश करेंगी। भारत के ऑटोमोटिव सेगमेंट इस साल कई चीनी कंपनियां डेब्यू करने की तैयारी में हैं।
    • चीन की सबसे बड़ी कार विक्रेता कंपनी SAIC शो में भाग लेगी। ब्रिटिश ऑटो कंपनी एमजी मोटर्स भी SAIC की ही सब्सिडरी है जो भारतीय बाजार में हेक्टर से साथ डेब्यू कर चुकी है। इसके अलावा चीन की सबसे बड़ी एसयूवी मेकर कंपनी ग्रेट वॉल, इलेक्ट्रिक बस और बैटरी बनाने वाली कंपनी BYD समेत FAW हाइमा ब्रांड के जरिए शो में भाग लेगी। 
    • इसके अलावा भी इलेक्ट्रिक टू-व्हीकर बनाने वाली कई कंपनियां, जिन्होंने भारत के छोटे निर्मात और स्टार्टअप्स के साथ साझेदारी की है भी ऑटो एक्सपो 2020 में शामिल होंगी।
  3. शो में शामिल नहीं होंगे एनफील्ड, ऑडी और हार्ले डेविडसन जैसे ब्रांड्स

    इस साल शो से कई इंटरनेशनल ब्रांड्स नदारद रहेंगे। रिपोर्ट के मुताबिक शो के 15वें एडिशन में ऑडी, बीएमडब्ल्यू, जगुआर, लैंड रोवर, होंडा, टोयोटा, वोल्वो, स्कोडा और फोर्ड जैसे ब्रांड शामिल नहीं हो रहे हैं।
    वहीं, टू-व्हीकर सेगमेंट की बात करें तो हीरो, टीवीएस, बजाज ऑटो और रॉयल एनफील्ड समेत हार्ले डेविडसन जैसे ब्रांड शो में भाग नहीं लेंगे। एनफील्ड ने नए एमिशन नॉर्म्स को इसका कारण माना है। तो बजाज ऑटो के रजीव बजाज ने बताया कि भारत में हमे सभी जानते हैं इसलिए हम नाइजिरिया में होने जा रहे मोटर शो में भाग लेंगे जहां हमे कोई नहीं जानता।

  4. 14 नए व्हीकल शोकेस करेगी एमजी मोटर्स

    ऑटोमोबाइल कंपनी एमजी मोटर्स ने पिछले साल ही एसयूवी हेक्टर के साथ भारतीय बाजार में डेब्यू किया, जिसने काफी लोकप्रियता हासिल की। हाल ही में कंपनी ने अपनी इलेक्ट्रिक एसयूवी ZS को लॉन्च किया, जिसकी शुरुआती कीमत 2 लाख रुपए तक है। रिपोर्ट के मुताबिक, ऑटो एक्सपो में कंपनी अपने 14 नए मॉडल को पेश करेगी जिसमें विजन एमपीवी, 6-सीटर हेक्टर समेत टू-सीटर इलेक्ट्रिक कार एमजी E200 शामिल होंगी।

  5. भारत में डेब्यू करेगी फ्रांसीसी कंपनी सिट्रोइन

    फ्रांसीसी कंपनी सिट्रोइन भी मिड-साइज एसयूवी C5 एयरक्रॉस के साथ भारतीय बाजार में एंट्री करने की तैयारी में है। कंपनी इसे पहले ही भारत में शोकेस कर चुकी है। भारत में इसकी मैन्युफैक्चरिंग तमिलनाडु स्थित प्लांट में की जाएगी। इसके लिए कंपनी ने सीके बिरला ग्रुप के साथ साझेदारी की है। C5 एयरक्रॉस बीएस6 कंप्लेंट पेट्रोल-डीजल इंजन के साथ लॉन्च किया जा सकता है। इसकी कीमत लगभग 16 लाख रुपए होगी।



Source link

Leave a Reply