ट्रम्प के भाषण में विवेकानंद से लेकर कोहली तक का जिक्र, पांच नामों का गलत उच्चारण; फिर भी लोगों ने खुशी जताई

0
33


  • राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा- यह वह देश है जहां हर साल करीब 2 हजार फिल्में बनाई जाती हैं, यह रचनात्मक और काबिल लोगों का हब है
  • राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प पत्नी मेलानिया और बेटी इवांका के साथ दो दिवसीय भारत दौरे पर अहमदाबाद पहुंचे, कार्यक्रम ‘नमस्ते ट्रम्प’ में शिरकत की

Dainik Bhaskar

Feb 24, 2020, 06:41 PM IST

अहमदाबाद. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प सोमवार को अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम पहुंचे। वहां उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के साथ ‘नमस्ते ट्रम्प’ कार्यक्रम में शिरकत की। राष्ट्रपति ट्रम्प ने अपने संबोधन में सचिन तेंदुलकर से लेकर शोले-डीडीएलजे और महात्मा गांधी से लेकर विवेकानंद तक का जिक्कर किया। हालांकि, पांच नामों का उच्चारण ट्रम्प ने गलत किया। मगर ट्रम्प के भाषण में जब-जब इन भारतीय हस्तियों का जिक्र किया, स्टेडियम में मौजूद जनता ने खुशी जताई।

राष्ट्रपति ट्रम्प के भाषण में छाया बॉलीवुड और क्रिकेट

  • ‘यह वो देश है जो हर साल करीब 2 हजार फिल्में बनाता है। यह रचनात्मकता और काबिल लोगों का हब है, जिसे बॉलीवुड के रूप में जाना जाता है। दुनियाभर में लोग यहां के भांगड़ा, संगीत, नृत्य, रोमांस और ड्रामा का लुत्फ उठाते हैं। क्लासिकल भारतीय फिल्में जैसे दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, शोले का मजा लेते हैं। भारतीय सिनेमा सालभर में 2 हजार फिल्में बनाता है। यह प्रशंसनीय है।’ 
  • ‘यह वो देश है, जहां आप सबसे बड़े क्रिकेटरों को चीयर करते हैं। जिनमें सचिन तेंदुलकर से लेकर विराट कोहली तक शामिल हैं। वे महानतम हैं।’
  • ‘महान धर्म गुरु स्वामी विवेकानंद ने एक बार कहा था कि जब कभी मैं सम्मान के भाव से किसी इंसान के सामने खड़ा होता हूं तो मुझे उसमें भगवान नजर आता है। उस क्षण मैं आजाद हो जाता हूं।’
  • ‘मैं और फर्स्ट लेडी मेलानिया महात्मा गांधी के आश्रम गए थे। यह वहां से कुछ ही दूरी पर स्थित है, जहां से गांधी ने सॉल्ट मार्च शुरू किया था। कल दिल्ली में इस महान नेता के समाधि स्थल राजघाट पर भी जाएंगे।’
  • ‘यह वो देश है जिसने महान देशभक्त सरदार पटेल के नाम पर सबसे ऊंचा स्टैच्यू बनवाया है।’

राष्ट्रपति ट्रम्प ने भाषण के दौरान कुछ गलतियां भी कीं

  • स्वामी विवेकानंद : स्वामी विवेकामॉनन्न
  • सचिन तेंडुलकर : मास्टर ब्लास्टर और क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंडुलकर के नाम का उच्चारण ट्रम्प ने ‘सुच्चिन तेंडुलकॉर’ किया।
  • विराट कोहली : टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को ट्रम्प ‘विराट कोली’ बोल गए।
  • चायवाला : मोदी खुद को कई बार चायवाला बता चुके हैं। ट्रम्प ने इसी शब्द का उच्चारण ‘चीवाला’ किया।
  • शोले : बॉलीवुड ब्लॉक बस्टर शोले फिल्म को उन्होंने ‘शोजे’ के रूप में उच्चारित किया।
  • वेद : भारतीय वेदों के उच्चारण में भी अमेरिकी राष्ट्रपति गलत कर गए। यह शब्द उन्होंने ‘वेस्ताज’ उच्चारित किया।

ओबामा के 5 साल बाद ट्रम्प ने किया ‘डीडीएलजे’ का जिक्र
शाहरुख खान और काजोल की फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ पहली ऐसी फिल्म है, जिसका जिक्र अमेरिका के दो राष्ट्रपति कर चुके हैं। 27 जनवरी 2015 को अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत यात्रा के दौरान दिल्ली के सिरीफोर्ट ऑडिटोरियम में भाषण दिया था। तब ओबामा ने हल्के-फुल्के अंदाज में ‘सेनोरिटा..बड़े-बड़े शहरों में….’ कहा था। इसके बाद उन्होंने लोगों से कहा- आगे आप मेरा मतलब समझ गए होंगे। दरअसल, यह डीडीएलजे का फेमस डायलॉग था। ये शाहरुख, काजोल से कहते हैं। राष्ट्रपति ट्रम्प ने भी अपने भाषण में डीडीएलजे और शोले का जिक्र किया।

सचिन तेंडुलकर का गलत नाम लेने पर आईसीसी ने चुटकी ली





Source link

Leave a Reply