ट्रम्प ताजमहल देखने पहुंचे, परिसर में डेढ़ किमी घूमे; विजिटर बुक में लिखा- इमारत भारतीय संस्कृति की समृद्ध विरासत

0
23


  • आगरा पहुंचने पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री योगी ने ट्रम्प का स्वागत किया, एयरपोर्ट से ताजमहल तक पूरे रूट को सजाया गया
  • मेयर जैन ट्रम्प को चांदी की चाबी, संगमरमर से बना ताजमहल का मॉडल और जरदोजी से तैयार मोर कृति भेंट करेंगे

Dainik Bhaskar

Feb 24, 2020, 06:00 PM IST

आगरा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प परिवार के साथ सोमवार शाम को अहमदाबाद से आगरा पहुंचे। सभी ने यहां ताजमहल का दीदार किया। ट्रम्प ने पत्नी मेलानिया के साथ ताजमहल के कैंपस में करीब डेढ़ किमी तक वॉक किया और फोटो सेशन कराया। विजिटर बुक में ट्रम्प ने लिखा- इमारत समय से परे है। यह भारत की समृद्ध संस्कृति का प्रतीक है।

टूरिस्ट गाइड ने ट्रम्प और फर्स्ट लेडी को ताजमहल से जुड़े किस्सों की जानकारी दी। उनकी बेटी इवांका ने सहयोगी को अपना मोबाइल दिया और उससे फोटो क्लिक करवाया। इससे पहले आगरा पहुंचने पर एयरपोर्ट पर राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी ने ट्रम्प को रिसीव किया।

ट्रम्प ने ताजमहल में विजिटर बुक में लिखा- थैंक्यू इंडिया।

मयूर नृत्य देखकर ट्रम्प बोले- गुड, ग्रेट
आगरा के खेरिया एयरपोर्ट पर शाम 4:15 बजे ट्रम्प का विमान उतरा। यहां पहुंचने के लिए 4:45 बजे कार्यक्रम प्रस्तावित था। वे 30 मिनट पहले पहुंच गए। उनके विमान से उतरने के बाद कलाकारों ने मयूर नृत्य किया। जिसे देखकर ट्रम्प ने वेलडन का साइन बनाते हुए गुड और ग्रेट कहकर कलाकारों का उत्साह बढ़ाया। बेटी इवांका ने ताली बजाकर उत्साह बढ़ाया। राष्ट्रपति ट्रम्प ने विजिटर बुक पर संदेश भी लिखा। 

21 जगहों पर 3000 कलाकारों ने कला और संस्कृति से रूबरू कराया

ट्रम्प की यात्रा को खास बनाने के लिए एयरपोर्ट से ताजमहल तक के रास्ते में 21 जगहों पर 3000 कलाकार भारतीय कला और संस्कृति से उन्हें रूबरू कराया। ट्रम्प के दौरे के चलते सोमवार दोपहर 12 बजे से ताजमहल आम पर्यटकों के लिए बंद कर दिया गया था। आगरा के मेयर नवीन जैन ट्रम्प को 600 ग्राम वजनी और 12 इंच लंबी चांदी की चाबी, संगमरमर से बना ताजमहल का मॉडल और जरदोजी से तैयार मोर कृति भेंट करेंगे। शहर के मेयर उन्हें आगरा के मुखिया होने के तौर पर प्रतीक स्वरूप चाबी सौंपेगे। 

ट्रम्प जिस रास्ते से गुजरे, वहां दीवारों पर उनकी पेंटिंग्स

ट्रम्प 2 घंटे आगरा में रहेंगे। शाम 6.45 बजे वह दिल्ली के लिए निकल जाएंगे। एक घंटे ताजमहल में रहेंगे। ट्रम्प का काफिला जिस रास्ते से होकर गुजरा, उसकी दीवारों में ट्रम्प की विभिन्न मुद्राओं में पेटिंग बनाई गई है। इन दीवारों में ट्रम्प- मोदी दोस्ती के साथ ही स्वच्छ भारत का संदेश देने वाली पेटिंग भी बनाई गई है। 

14 किमी रूट पर 10 हजार जवानों की तैनाती

ट्रम्प की सुरक्षा के लिए आगरा को 10 जोन में बांटा गया। एयरपोर्ट से ताजमहल तक के 14 किमी रूट में पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स के करीब 10 हजार जवान तैनात किए गए। 18 जगहों पर 30 अतिरिक्त सीसीटीवी कैमरे लगाए गए। पूरी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए कंट्रोल रूम भी बनाया गया। 

पहली बार ड्यूटी की गूगल टैगिंग
अमेरिकी राष्ट्रपति की सुरक्षा के लिए उनके रूट पर 75 घर और बिल्डिंग को चिह्नित किया गया। इनकी छतों पर पुलिसकर्मी निगरानी के लिए तैनात किए गए हैं। ग्राउंड पर डयूटी करने वाले पुलिसकर्मी तो आसानी से दिखते हैं, लेकिन छतों पर निगरानी में लगे पुलिसकर्मियों की मॉनिटरिंग में परेशानी होती थी। इस बार उन सभी घरों, दुकानों और होटलों की गूगल जियो टैगिंग की गई। इससे स्थानीय अधिकारियों के लिए मॉनिटरिंग आसान रही। यह भी बताया गया था कि अमेरिकी सुरक्षा एजेंसी अपने सुरक्षा मुख्यालय पेंटागन से भी नजर रख सकती है।

ये भी पढ़ें… 

ट्रम्प ताजमहल देखने वाले तीसरे अमेरिकी राष्ट्रपति / 60 साल पहले आगरा में खुली कार में घूमे थे आइजनहॉवर, क्लिंटन के लिए फुटपाथ तक खाली करा लिया था



Source link

Leave a Reply