बजरंग समेत 5 में से 4 खिलाड़ी फाइनल में, रवि ने ताजिकिस्तान के हिकमाजुलो को 10-0 से हराकर गोल्ड जीता

0
29


  • बजरंग पूनिया, गौरव बालियान, सत्यव्रत कादियान फाइनल में हारे
  • भारतीय खिलाड़ियों ने अब तक 5 गोल्ड सहित 17 मेडल जीते हैं 

Dainik Bhaskar

Feb 23, 2020, 08:15 AM IST

नई दिल्ली. भारत के लिए एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप का पांचवां दिन मिला-जुला रहा। शनिवार को उसके पांच में से 4 पहलवान फाइनल में पहुंचे। लेकिन सिर्फ एक को गोल्ड मिला। तीन को हार का सामना करना पड़ा। बजरंग पूनिया 65 किग्रा, रवि कुमार दहिया 57 किग्रा, गौरव बालियान 79 किग्रा और सत्यव्रत कादियान 97 किग्रा के गोल्ड मेडल मुकाबले में पहुंचे।

रवि ने फाइनल में ताजिकिस्तान के हिकमाजुलो वोहिदोव को 10-0 से हराकर गोल्ड जीता। लेकिन, बजरंग, गौरव और सत्यव्रत फाइनल में हार गए। उन्हें सिल्वर मिला। डिफेंडिंग चैंपियन बजरंग काे फाइनल में जापान के ताकुतो ओटोगुरो ने 10-2 से हराया। जापानी पहलवान ने 2018 वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में भी बजरंग को हराया था।

वहीं, गौरव को किर्गिस्तान के अर्सलान बुडाजापोव ने 7-5 से हराया। जबकि सत्यव्रत को ईरान के मोजतबा मोहम्मदशेफी गोलेजी ने 10-0 से मात दी। गाेलेजी दो बार के अंडर-23 वर्ल्ड चैंपियन हैं। नवीन 70 किग्रा के फाइनल में जगह नहीं बना सके। उन्हें सेमीफाइनल में ईरान के अमिरहोसेन ने 3-2 से हराया। चैंपियनशिप में भारत के 5 गोल्ड, 5 सिल्वर, 7 ब्रॉन्ज सहित 17 मेडल हो गए हैं।  
 

सत्यव्रत ने 45 सेकंड में सेमीफाइनल जीत लिया 

सत्यव्रत कादयान ने लगातार दो मुकाबले 10-0 के अंतर से जीते थे। उन्होंने 97 किग्रा वेट कैटेगरी के सेमीफाइनल में 2019 के ब्रॉन्ज मेडलिस्ट ताजिकिस्तान के रुस्तम इस्कंदारी को 10-0 से हराया। वे सिर्फ 45 सेकंड में सेमीफाइनल फाइट जीत गए थे और पहली बार टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे थे। 

गाैरव पहली बार सीनियर चैंपियनशिप में उतरे 
18 साल के गौरव बालियान ने पहली बार सीनियर एशियन चैंपियनशिप में हिस्सा लिया। उन्हांेने नॉन-ओलिंपिक कैटेगरी 79 किग्रा के सेमीफाइनल में जापान के शिनकिची ओकुई को 6-5 से हराया। वे पहले हाफ में 0-3 से पिछड़ गए थे। लेकिन लगातार पॉइंट हासिल कर सेमीफाइनल जीता।

बजरंग जूनियर चैंपियन को हराकर फाइनल में पहुंचे
लिंपिक में सबसे बड़ी मेडल उम्मीद बजरंग (65 किग्रा) वर्ल्ड जूनियर चैंपियन अमिरहुसैन को 10-0 से हराकर फाइनल में पहुंचे थे। बजरंग ने शानदार लेेग डिफेंस करते हुए ईरानी पहलवान को चित कर दिया। फाइनल तक के सफर में विरोधी पहलवान बजरंग के खिलाफ 2 पॉइंट हासिल कर सके।

रवि ने 2019 में वर्ल्ड चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज जीता था

रवि दहिया ने 57 किग्रा के सेमीफाइनल में कजाखस्तान के सनायेव को 7-2 से मात देकर गोल्ड मेडल मुकाबले में जगह बनाई। सनायेव वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर जीत चुके हैं। वर्ल्ड चैंपियनशिप के ब्रॉन्ज मेडलिस्ट रवि ने क्वालिफिकेशन में 2017 के वर्ल्ड चैंपियन यूकी ताकाहाशी को 14-5 से हराया।



Source link

Leave a Reply