IPL 2020: ज्यादातर टीमों में विदेशी मुख्य कोच होने पर अनिल कुंबले ने कही ये बात

0
3


नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की 8 फ्रेंचाइजी टीमें में किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) ही एकमात्र टीम ऐसी टीम है जिसका मुख्य कोच भारतीय है. किंग्स इलेवन पंजाब के कोच अनिल कुंबले (Anil Kumble) के अलावा आईपीएल के मौजूदा सीजन से जुड़े कोचों को देखें किसी भी अन्य टीम के कोच भारतीय नहीं है और इसी पर अनिल कुंबले का मानना है कि यह आंकड़ा देश में कोचिंग संसाधनों का ‘सही आइना’ नहीं है.

यह भी पढ़ें- IPL 2020: सीनियर खिलाड़ी वाले सवाल पर शमी ने किया ये खुलासा

सभी टीमों पर नज़र डाले तो रिकी पोंटिंग (दिल्ली कैपिटल), ब्रेंडन मैकुलम (कोलकाता नाइट राइडर्स), स्टीफन फ्लेमिंग (चेन्नई सुपरकिंग्स), महेला जयवर्धने (मुंबई इंडियंस), ट्रेवर बेलिस (सनराइजर्स हैदराबाद) साइमन कैटिच (रॉयल चैलेंचर बेंगलोर) और एंड्रयू मैकडोनाल्ड (राजस्थान रॉयल्स), सभी के हेड कोच विदेशी हैं.

कुंबले ने एक ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा है कि, ‘मैं आईपीएल में ज्यादा भारतीय कोच देखना चाहूंगा. यह भारतीय संसाधनों का सही अक्स नहीं है. मैं कई भारतीयों को मुख्य कोच के रूप में आईपीएल में देखना चाहता हूं’.

भारत के पूर्व दिग्गज गेंदबाज ने कहा कि, ‘मुख्य कोच के रूप में सिर्फ एक भारतीय का होना एक विडंबना है. मुझे लगता है कि किसी समय भारतीय कोच की संख्या अधिक होगी’. किंग्स इलेवन पंजाब के बारे में पूछे जाने पर कुंबले ने कहा कि, ‘टीम जैव सुरक्षित महौल के कड़े नियमों का पालन करते हुए मानसिक और शारीरिक तौर पर अच्छी स्थिति में है’.

कुंबले ने कहा, ‘ हमें अभी भी मुख्य मैदान में परिस्थितियों को देखना होगा क्योंकि हम अभ्यास कर रहे हैं. खिलाड़ी के रूप में भी क्रिस गेल की प्रमुख भूमिका रहेगी.’ उन्होंने कहा, ‘युवा खिलाड़ी उनके नेतृत्व कौशल और अनुभव से सीखना चाहेंगे. उन्हें हम सिर्फ एक बल्लेबाज के रूप में नहीं देख रहे, वह युवा खिलाड़ियों को विकसित करने में अहम भूमिका में होंगे. मैं चाहता हूं कि वह मेंटरशिप भूमिका में सक्रिय हों.’
(इनपुट-भाषा)



Source link

Leave a Reply